मां की समझाइश पर माने छबिंद्र

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिवंगत महेंद्र कर्मा की पत्नी देवती कर्मा को पार्टी ने दंतेवाड़ा से टिकट दिया था जिससे देवती के बेटे छबिंद्र कर्मा नाराज़ हो गए थे और निर्दलीय पर्चा भर दिया था। शुक्रवार को हुए नाटकीय घटनाक्रम में छबिंद्र ने नाम वापस लेने और निर्दलीय नहीं लड़ने का का फैसला लिया है। देवती कर्मा की समझाइश के बाद छबिंद्र उनके लिए चुनाव प्रचार करेंगे। मां के खिलाफ बेटे के खड़े हो जाने से कांग्रेस के सामने बड़ी असमंजस की स्थिति आ गई थी। लेकिन अब छबिंद्र के मान जाने के बाद कांग्रेसियों ने राहत की सांस ली है। अब दंतेवाड़ा विधानसभा में कांटे की टक्कर होने की संभावना जताई जा रही है।

(Visited 80 times, 1 visits today)

You might be interested in

LEAVE YOUR COMMENT