चुनाव प्रचार के लिए Scindia के गढ़ में पहली पसंद बने CM Shivraj singh chouhan

चुनाव नजदीक आते आते मध्यप्रदेश में चुनावी सिनेरियो बड़ी तेजी से बदल रहा है. ज्योतिरादित्य सिंधिया वर्सेज कमलनाथ से शुरू हुआ ये चुनाव कब शिफ्ट हो कर कमलनाथ वर्सेज शिवराज सिंह चौहान हो गया. ये पता भी नहीं चला. कहने को तो उपचुनाव सिंधिया के चेहरे पर ही लड़ा जा रहा है. क्योंकि 28 में से 20 सीटों पर तो सीधे सीधे सिंधिया समर्थक ही मैदान में हैं. इन बीस में से भी 16 सीटें वो हैं जो ज्योतिरादित्य सिंधिया के गढ़ ग्वालियर चंबल में आती है. इन सीटों पर ज्योतिरादित्य सिंधिया जोरशोर से मैदान में हैं. ताकि अपने समर्थकों को जितवा सकें. पर चौंकाने वाली बात ये है कि न तो सिंधिया समर्थक प्रत्याशी न ही जनता ये चाहती है कि उनकी सीट पर खुद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सर्वे करने जाएं. सूत्रों के हवाले से खबर है कि बीजेपी ने हाल ही में अपने प्रत्याशियों के बीच ये सर्वे करवाया है कि वो किस स्टार प्रचारको अपने क्षेत्र में ज्यादा से ज्यादा देखना चाहते हैं. जो नतीजे आए वो चौंकाने वाले हैं. क्योंकि अधिकांश सीटों पर खुद प्रत्याशी ये चाहते हैं कि सिंधिया के बजाए सीएम प्रचार करें. इसकी एक बड़ी वजह कांग्रेस के उस कैंपेन को माना जा रहा है जिसके कारण सिंधिया की छवि गद्दार, जयचंद और दलबदलू वाली बन गई है. इस वजह से अगर सिंधिया प्रचार करने आते हैं तो हो सकता है प्रत्याशी को इसका खामियाजा ही भुगतना पड़े. इसलिए अब प्रत्याशियों के बीच सिंधिया से ज्यादा शिवराज की डिमांड बढ़ गई है.

(Visited 55 times, 1 visits today)

You might be interested in