मध्यप्रदेश के सरकारी कर्मचारियों के लिए खुशखबरी, महंगाई भत्ते पर बड़ा ऐलान

मध्यप्रदेश के लगभग 5 लाख कर्मचारियों को 5% महंगाई भत्ता मिलने की संभावना है. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इसकी घोषणा की है. सम्भावना है की 1 अप्रैल 2021 के बाद भुगतान कर दिया जाएगा.
मध्य प्रदेश के 18000 कर्मचारी इंक्रीमेंट के बिना ही रिटायर हो गए. साल 2021 में 21000 कर्मचारी सेवानिवृत्त होने वाले हैं. कर्मचारी संगठन लगातार वेतन महंगाई भत्ता और सातवें वेतनमान की किश्त मांग रहे हैं.
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और वित्त मंत्री जगदीश देवड़ा ने ये कहा है की जैसे -जैसे प्रदेश का बजट सुधरेगा राज्य के कर्मचारियों को महंगाई भत्ता और सातवें वेतनमान की किश्त का भुगतान कर दिया जाएगा. उनका कहना है कि 1 अप्रैल से शुरू होने वाले वित्तीय वर्ष में यह लाभ कर्मचारियों को मिल सकते हैं जिनका भुगतान अप्रैल-मई महीने में होगा . इस पर अनुमानित वार्षिक खर्च 2742 करोड़ रुपए के करीब है.
कमलनाथ सरकार ने फरवरी 2020 में डीए देने के आदेश जारी किए थे, लेकिन उनकी सरकार गिर गई. प्रदेश में कर्मचारियों को केंद्रीय तिथि से महंगाई भत्ते का लाभ दिया जाता रहा है. इसके बाद शिवराज सरकार ने कोरोना संकट की वजह से महंगाई भत्ते पर रोक लगा दी. और इसके बाद डेढ़ साल से कर्मचारियों का वेतन नहीं बढ़ा है. बता दें डीए बढ़ने के बाद इसमें हर महीने डीए पर 225 करोड़ रु., जबकि 2742 करोड़ रु. वार्षिक वेतन वृद्धि पर अतिरिक्त खर्च होंगे. कोरोना से बेहाल वित्तीय व्यवस्था की वजह से केंद्र ने भी अपने कर्मचारियों को 1 जनवरी 2020 से बकाया 2 % डीए नहीं दिया है.

(Visited 50 times, 1 visits today)

About The Author

You might be interested in