MP Byelection: Sanchi सीट पर अपनो से ही हार का डर. 35 साल बाद बदली बिसात

सांची विधानसभा सीट पर मुकाबला चौधरी बनाम चौधरी का है. यहां से ज्योतिरादित्य सिंधिया समर्थक डॉ. प्रभुराम चौधरी बीजेपी के टिकट से मैदान में हैं. और कांग्रेस ने मदनलाल चौधरी को टिकट दिया है. सांची बहुत समय बाद किसी अन्य प्रत्याशी को प्रभुराम चौधरी से टकराते देखेगा. 1985 से यहां मुकाबला चौधरी बनाम शेजवार का रहा है. बीजेपी ने इस सीट से पांच बार जीत दर्ज की है एक बार जनता पार्टी जीती है कांग्रेस बस तीन ही बार यहां से जीत सकी है. तीनों बार कांग्रेस की जीत प्रभुराम चौधरी के नाम ही रही. 1977 में गौरी शंकर शेजवार यहां से जनता पार्टी के टिकट से जीते. इसके बाद 1980, 1990, 1993स 1998स 2003 यौप 2013 का चुनाव बीजेपी के टिकट से जीते. 1985 के चुनाव में यहां प्रभुराम चौधरी की एंट्री हुई. तब से हर बार भिड़ंत इन्हीं दोनों के बीच रही बस पिछला चुनाव यहां से प्रभुराम चौधरी के खिलाफ शेजवार के बेटे मुदित शेजवार ने लड़ा था. प्रभुराम यहां से 1985, 2008 और 2018 में चुनाव जीते. अब दशकों बाद यहां का नजारा बदला हुआ है. कांग्रेस से चुनाव लड़ने वाले चौधरी बीजेपी से चुनाव लड़ रहे हैं. हमेशा चौधरी के खिलाफ राजनीति करने वाले शेजवार अब उनके साथ और उनके हक में चुनाव प्रचार कर रहे हैं. अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित इस सीट पर लोधी, किरार और मुस्लिम वोटों की भी अधिकता है जो हार जीत तय करते हैं. कुल मतदाता 2 लाख 38 हजार हैं. पुरूष वोटर्स की संख्या 1 लाख 27 हजार हैं और महिला वोटर्स 1 लाख 11 हजार हैं. ट्रांसजेंडर वोटर ग्यारह हैं. #mpnews #newslivemp #prabhuramchoudhary #mpbjp #Mpcongress #byelection2020 #mpupchunav2020

(Visited 115 times, 1 visits today)

You might be interested in